सहजीविता या सहजीवन क्या है, लाइकेन किस कुल के पौधों की जड़ों में रहता है

परजीविता Parasitism- वातावरण में कवक, जीवाणु एवं विषाणु तथा कुछ उच्चवर्गीय आवृत्त बीजी पौधे जैसे- अमरबेल, लोरेन्थस, ओरोबैका, वेलेनोफोरा, रैफ्लेशिया आदि परजीवी के रूप में उगते हैं। इनमें पर्णहरिम का …

Read More

खेतियों के प्रकार

खेती नाम एयरोपोनिक  पौधों को हवा मे उगाना एपीकल्चर मधुमक्खी पालन हार्टीकल्चर बागवानी फ्लोरी कल्चर फूल विज्ञान ओलेटी कल्चर सब्जी विज्ञान पामोलॉजी फल विज्ञान विटी कल्चर अंगूर की खेती वर्मीकल्चर …

Read More

बक्सर युद्ध

22 अक्टूबर, 1764 ई. को मीर कासिम, शुजाउद्दौला (अवध का नवाब) और मुगल बादशाह शाह आलम द्वितीय की सम्मिलित सेनाओं की मुठभेड़ मेजर हेक्टर मुनरो के नेतृत्व वाली अंग्रेजी सेना …

Read More

भारतीय संविधान का निर्माण

भारतीय संविधान का निर्माण एक संविधान सभा द्वारा हुआ। ब्रिटिश सरकार ने भारत की स्वतंत्रता के प्रश्न का समाधान ढूंढ़ने के लिए अपने तीन मंत्रियों के दल को ‘केबिनेट मिशन’ …

Read More

कांग्रेस की पूर्वगामी संस्थान

जमींदारी एसोसिएशन 1838 में जमीदारों के हितों की सुरक्षा के लिये जमींदारी एसोसिएशन (लैंडहोल्डर्स एसोसिएशन) का गठन किया गया। जमींदारी एसोसिएशन भारत की पहली राजनीतिक सभा थी, जिसने संगठित राजनीतिक …

Read More

सामान्य ज्ञान सार संग्रह

‘पारिस्थितिकी स्थायी मितव्ययिता’ यह किस आन्दोलन का नारा है? चिपको आन्दोलन वर्ल्ड वाइल्ड फंड का प्रतीक चिह्न कौन सा जानवर है? जाइन्ट पाण्डा कौनसा एक पारिस्थितिक तंत्र पृथ्वी के सर्वाधिक …

Read More

भारत में प्रथम

  भारतीय गणराज्य के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद स्वतंत्र भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू भारत के प्रथम उप-राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारत के प्रथम गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई …

Read More

राजस्थान की प्रमुख नदियां

अपवाह तन्त्र से तात्पर्य नदियां एवं उनकी सहायक नदियों से है जो एक तंत्र अथवा प्रारूप का निर्माण करती हैं। राजस्थान में वर्ष भर बहने वाली नदी केवल चम्बल है। …

Read More

राजस्थान में समाचार पत्रों का विकास

समाचार पत्रों का मुख्य उद्देश्य – राजस्थान की जनता में राजनीतिक चेतना जाग्रत करना था, साथ ही विभिन्न राज्यों में होने वाले आन्दोलनों के प्रति राजस्थान की जनता का ध्यान …

Read More

राजस्थान की प्रमुख लोक देवियां

राजस्थान की प्रमुख लोक देवियां निम्नलिखित हैं- करणीमाता मूलनाम – रिद्धीबाई बीकानेर के राठौड़ों व चारणों की कुलदेवी है। मुख्य मंदिर देशनोक (बीकानेर) में है। करणी माता ‘चूहों की देवी’ …

Read More