राष्ट्रीय आय

किसी भी देश के नागरिकों द्वारा एक निश्चित समयावधि में उत्पादित अंतिम वस्तुओं तथा सेवाओं का मूल्य राष्ट्रीय उत्पाद कहलाता है। राष्ट्रीय उत्पाद की धारणा स्टॉक से संबंधित है। राष्ट्रीय आय से अभिप्राय एक राष्ट्र की एक वर्ष में …

Read More

भारत में धन-निष्कासन के परिणाम

महादेव गोविन्द रानाडे के अनुसार ‘‘राष्ट्रीय पूंजी का एक-तिहाई हिस्सा किसी-न-किसी रूप में ब्रिटिश शासन द्वारा भारत के बाहर ले जाया जाता है।’ भारत पर ब्रिटेन के आर्थिक नियन्त्रण का …

Read More