‘भीमबेटका गुफा’ किस राज्य में स्थित है?

इतिहास के महत्त्वपूर्ण वस्तुनिष्ठ प्रश्न जो एसएससी, रेलवे, यूपीएससी, पीएससी आदि विभिन्न परीक्षाओं में पूछे गए हैं। जो अक्सर पूछे जाते हैं।

‘भीमबेटका गुफा’ किस राज्य में स्थित है?

(a) तेलंगाना            (b) कर्नाटक

(c) ओडिशा           (d) मध्य प्रदेश

उत्तर—(d)

निम्नलिखित में से कौन-सी सभ्यता अपने नगर नियोजन के लिए प्रसिद्ध है?

(a) सिंधु घाटी सभ्यता       (b) मेसोपोटामियाई सभ्यता

(c) फारस सभ्यता              (d) मिस्र सभ्यता

उत्तर-(a)

सिंधु घाटी सभ्यता के निम्नलिखित स्थानों में से कौन-सा स्थान सिंधु नदी के किनारे पर स्थित था?

(a) लोथल            (b) मोहनजोदड़ो

(c) कालीबंगा      (d) हड़प्पा

उत्तर—(b)

मोहनजोदड़ो का स्थानीय नाम …….. था?

(a) रेगिस्तान का टीला          (b) नदीमुख-भूमि का टीला

(c) मृतकों का टीला              (d) जीवन का टीला

उत्तर-(c)

व्याख्या— मोहनजोदड़ो जिसका सिंधी भाषा में अर्थ ‘मृतकों का टीला’ होता है। इसकी खोज वर्ष 1922 में राखालदास बनर्जी ने की।

सिंधु घाटी सभ्यता का पत्तन नगर (बंदरगाह) कौन-सा है?

(a) कालीबंगन          (b) लोथल

(c) रोपड़                    (d) मोहनजोदड़ो

उत्तर-(b)

व्याख्या— लोथल गुजरात में भोगवा नदी के किनारे स्थित है। वर्ष 1955 तथा 1962 के मध्य यहां एस आर राव के निर्देशन में खुदाई की गई, जहां दो मील के घेरे में बसे हुए एक नगर के अवशेष प्राप्त हुए। यहां की सबसे महत्वपूर्ण उपलब्धि पक्की ईटों का बना हुआ विशाल आकार (214×36 मीटर) का एक घेरा है, जिसे राव महोदय ने ‘जहाजों को गोदी’ बताया है। इस प्रकार लोथल एक पत्तन नगर था। लोथल में दो भिन्न-भिन्न टीले नहीं मिलते पूरी की पूरी बस्ती एक ही दीवार से घिरी थी।

देवी माता की पूजा संबंधित थी?

(a) आर्य सभ्यता के साथ

(b) भूमध्य सागरीय सभ्यता के साथ

(c) सिंधु घाटी सभ्यता के साथ

(d) उत्तर वैदिक सभ्यता के साथ

उत्तर-(c)

व्याख्या— देवी माता या मातृदेवी की पूजा सिंधु घाटी सभ्यता से संबंधित थी। पुरातात्विक साक्ष्यों से प्राप्त मातृदेवी की मृण्मूर्तियों से इस बात का ज्ञान होता है।

विशाल स्नानागार (ग्रेट बाथ) कहां मिला था?

(a) हड़प्पा            (b) लोथल

(c) चन्हूदड़ो         (d) मोहनजोदड़ो

उत्तर-(d)

सिंधु घाटी सभ्यता में, कालीबंगा निम्नलिखित में से किसके लिए प्रसिद्ध है?

(a) चट्टान कटौती की वास्तुकला

(b) बंदरगाह

(c) कपास की खेती

(d) मिट्टी के पात्र

उत्तर-(d)

शोर्तुगुई (सिंधु घाटी सभ्यता) किस देश में है?

(a) भारत                     (b) पाकिस्तान

(c) अफगानिस्तान    (d) तिब्बत

उत्तर-(c)

शोर्तुगुई एवं मुंडीगाक सिंधु घाटी से संबंधित पुरास्थल क्षेत्र है, जो अफगानिस्तान में स्थित है।

सिंधु अर्थव्यवस्था की ताकत थी?

(a) कृषि

(b) व्यापार

(c) चाक पर बनाए गए मिट्टी के बर्तन

(d) बढ़ईगिरी

उत्तर-(b)

व्याख्या— सिंधु सभ्यता एक व्यापारिक एवं नगरीय सभ्यता थी। यह व्यापार प्रधान थी। अत: सिंधु अर्थव्यवस्था की ताकत व्यापार ही था। इसके अलावा अर्थव्यवस्था में कृषि एवं पशुपालन का भी महत्वपूर्ण योगदान था।

आर्य सभ्यता में मनुष्य के जीवन के आयु के आरोही क्रमानुसार निम्नलिखित चरणों में से कौन-सा विकल्प सही है?

(a) ब्रह्मचर्य-गृहस्थ-वानप्रस्थ-संन्यास

(b) गृहस्थ-ब्रह्मचर्य-वानप्रस्थ-संन्यास

(c) ब्रह्मचर्य-वानप्रस्थ-संन्यास-गृहस्थ

(d) गृहस्थ-संन्यास-वानप्रस्थ-ब्रह्मचर्य

उत्तर-(a)

‘वेद’ शब्द का अर्थ है?

(a) ज्ञान                (b) बुद्धिमत्ता

(c) कुशलता      (d) शक्ति

उत्तर-(a)

आरंभिक वैदिक काल में वर्ण-व्यवस्था आधारित थी?

(a) शिक्षा पर          (b) जन्म पर

(c) व्यवसाय पर   (d) प्रतिभा पर

उत्तर-(c)

आर्य, आर्य-पूर्वो के साथ अपने संघर्षों में सफल रहे, क्योंकि

(a) उन्होंने बड़े पैमाने पर हाथियों का प्रयोग किया

(b) वे अधिक लंबे और अधिक बलवान थे

(c) वे एक उन्नत शहरी संस्कृति से थे

(d) उन्होंने घोड़ों द्वारा चलाए जा रहे रथों का प्रयोग किया

उत्तर-(d)

ऋग्वैदिक आर्य पशुचारी लोग थे, यह इस तथ्य से पुष्ट होता है, कि

(a) ऋग्वेद में गाय के अनेक संदर्भ हैं

(b) अधिकांश युद्ध गायों के लिए लड़े गए थे

(c) पुरोहितों को दिए जाने वाला उपहार प्राय: गायें होती थीं, न कि जमीन

(d) उपर्युक्त सभी

उत्तर-(d)

वैदिक आर्यों का प्रमुख भोजन था?

(a) जौ और चावल

(b) दूध और इसके उत्पाद

(c) चावल और दालें

(d) सब्जियां और फल

उत्तर-(b)

वैदिक आर्यों के भोजन में दूध, घी, दही आदि का प्रमुख महत्व था। ऋग्वेद में दूध में यव (जी) डालकर क्षीर पकोदन तथा दही में बनने वाले पनीर का उल्लेख मिलता है। जी के सत्तू को दही में डालकर करंभ नामक भोज्य पदार्थ तैयार किया जाता था। ऋग्वेद में चावल और नमक का उल्लेख नहीं है।

उत्तरमेरूर शिलालेख से किसके प्रशासन से संबंधित जानकारी मिलती है?

(a) पल्लव        (b) चोल

(c) चालुक्य      (d) सातवाहन

उत्तर-(b)

व्याख्या— उत्तरमेरूर, तमिलनाडु के कांचीपुरम जिले में स्थित है। यहां से प्राप्त शिलालेखों से चोलों के ग्रामीण प्रशासन के बारे में जानकारी प्राप्त होती है। ये शिलालेख 919 ई. तथा 929 ई. के समय के हैं।

किस चोल शासक ने नई राजधानी ‘गंगईकोड चोलपुरम’ का निर्माण किया?

(a) राजेंद्र प्रथम    (b) विजयलाला

(c) आदित्य            (d) राजराज प्रथम

उत्तर-(a)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *